सीएए पर सकपकाई भाजपा के लिये फार्मूला खोजने बैठा संघ

0
42


भोपाल. दोपहर मेट्रो। देशभर में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर लोगों में फैले भ्रम और गुस्से से हड़बड़ाई भाजपा के लिये कारगर फार्मूला खोजने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ इंदौर में ‘बैठ’ गया है। इस महत्वपूर्ण मिशन के लिये मप्र को चुनना भी संघ-भाजपा की सुविचारित रणनीति का हिस्सा है। आज से संघ ने औपचारिक मंथन शुरू कर दिया है,पांच से सात जनवरी तक उसकी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक भी यहीं होगी। माना जा रहा है कि इंदौर में संघ की बैठक के निष्कर्षों को भाजपा राष्ट्रीयस्तर पर अमल में लाकर सीएएस पर जनता को अपने ‘पक्ष’ में करने का व्यापक अभियान चलाएगी। इसी के चलते 12 जनवरी को गृहमंत्री व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का मप्र दौरा भी महत्वपूर्ण हो गया है।


विश्वस्त सूत्रों की मानें तो भाजपा नेतृत्व सीएए को लेकर देश मे पैदा हुए माहौल को लेकर इसलिये चिंतित है क्योंकि इसमें प्राय: हर दिन कोई नया घटनाक्रम सामने आ रहा है।भाजपा की चिंता यह भी है कि इस कानून के खिलाफ देश के बुध्दिजीवी भी खुलकर राय व्यक्त करने लगे हैं,सिविल सोसाइटी का जु$डाव भी भाजपा नेताओं को बुरी तरह परेशान किये हुए हैं।इसीलिये संघ ने इस मामले में भ्रम और गुस्से को शांत कराने के लिये तरीका खोजने का निर्णय लिया है।इससे पहले भी भाजपा ने अपने सभी नेताओं को ‘कमलसंदेश’भेजकर सीएएस की जरूरत,प$डोसी देशों में हिंदुओं का उत्पी$डन और इतिहास से जु$डी घटनाओं से संबंधित ब्योरा भेजा था,खुद प्रधानमंत्री मोदी ने दिल्ली के रामलीला मैदान पर एक रैली करके स्थिति को साफ करने की कोशिश की है। लेकिन भाजपा सूत्र भी मानते हैं कि जिस तरह से मामला ‘काबू’में आने की उम्मीद थी वैसा पूरी तरह नहीं हो पाया है।


चूंकि मप्र और खासकर मालवा प्रांत संघ की प्रिय प्रयोग भूमि है इसलिये इंदौर में बैठक होना महत्वपूर्ण है। संघ प्रमुख मोहन भागवत कल ही पहुंच चुके हैं उनके अलावा ४०० से ‘यादा पदाधिकारी शामिल हो रहे हैं। बताया जाता है कि बैठक में कश्मीर में धारा ३७० के बाद के हालात,राममंदिर निर्माण जैसे मामलो ंपर भी चर्चा होगी। वहीं नये साल की रणनीतियों पर चर्चा कके साथ ही संघ की गतिविधि बढाने को लेकर भी चर्चा हो सकती है। बैठक में नागरिकता कानून और राम मंदिर जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा होगी। ्वही बीते वर्ष की गतिविधियों की समीक्षा के अलावा नए साल में संघ की रणनीति पर चर्चा होगी। इसके साथ ही मध्यप्रदेश में संघ की गतिविधि बढाने को लेकर भी चर्चा हो सकती है। इसमें भागवत, भैयाजी जोशी, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, पार्टी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, राम माधव सहित कई केंद्रीय मंत्री भाग लेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here