खुशखबरी! कमलनाथ सरकार की पहल लाएगी रंग, अब 1 हेक्टेयर में 85 क्विंटल गेंहू की होगी पैदावार

0
22

भोपाल/इंदौर, दोपहर मेट्रो। प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने प्रयोगात्मक रूप से इन्दौर के पिपल्या गांव को गोद लिया है। यहां सरकार ने किसानों को उत्पादन बढ़ाने के लिए सुविधाएं मुहैया कराई गईं हैं। सीएम कमलनाथ के निर्देश पर सरकार के तीन मंत्री सचिन यादव, तुलसी सिलावट और बाला बच्चन ने खेतों में जाकर उगी गेहूं की फसल का जायजा भी लिया और किसानों की हौसलाअफजाई भी की।


1 हेक्टेयर में 80 से 90 क्विटल उत्पादन का है लक्ष्य
कृषि विभाग के सहायक संचालक गोपेश पाठक का कहना है कि हमारा लक्ष्य कि गारी पिपल्या गांव की औसत उत्पादकता पूरे मध्य प्रदेश में ही नहीं पूरे भारत में सर्वाधिक हो और इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए वैज्ञानिकों को गांव में ले जाकर किसानों को विशेष ट्रेनिंग दिलवाई गई। उनको बोने की तकनीकी, खाद डालने का तरीका बताया गया और उन्हें जो भी समस्या आती है कृषि विज्ञानिकों को ले जाकर हल कराई जाती है। किसानों को बीज, उर्वरक, कीटनाशक और खरपतवार नाशक उपलब्ध कराए गए हैं जिससे वे 1 हेक्टेयर में 80 से 90 क्विटल गेंहू उगाने का लक्ष्य प्राप्त कर सकें। इस गांव में करीब सौ हेक्टेयर से ज्यादा रकबे में गेहूं की फसल उगाई जा रही है।


खेतों में पहुंचे तीन मंत्री
सीएम कमलनाथ के निर्देश पर इंदौर जिले के प्रभारी और गृह मंत्री बाला बच्चन ने स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट और कृषि मंत्री सचिन यादव के साथ गारी पिपल्या गांव पहुंचे। उन्होंने खेतों में लहलहाती गेहूं की उन्नत खेती को देखा। जबकि खेतों में पहुंचे तीनों मंत्रियों ने किसानों का स्वागत किया और कहा कि यहां फसल देखकर लग रहा है कि गेहूं का बम्पर उत्पादन होगा और प्रदेश का ये गांव देश में गेहूं उत्पादन के क्षेत्र में नया रिकॉर्ड कायम करेगा। इस दौरान उन्होंने किसानों की समस्याओं को लेकर उनसे बातचीत की और हर संभव मदद का भरोसा दिलाया।


गारी पिपल्या गांव की बनेगी नई पहचान
इंदौर से तकरीबन 15 किलोमीटर दूर सांवेर विधानसभा क्षेत्र का गारी पिपल्या गांव अपनी अलग पहचान बना रहा है। सरकार ने विशेष प्रयास कर गेहूं उत्पादन के क्षेत्र में इसे देश में अव्वल बनाने की तैयारी कर ली है। इसके लिए किसानों को कृषि बीज, खाद और तकनीकी सलाह देकर विशेष प्रयास किये गए हैं और अब इस गांव में बोई गेहूं की फसल लहलहा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here