कांग्रेस ने उत्तराखंड से पूर्व पार्टी प्रमुख किशोर उपाध्याय को पार्टी के सभी पदों से हटाया

जैसे जैसे उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तारीख नजदीक आ रही है, वैसे ही सियासी गर्मी तेज होती जा रही है। योगी सरकार के वन मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी इस्तीफा दे दिया है। इससे पहले स्वामी प्रसाद मौर्य खेमे के एक और विधायक विनय शाक्य ने भाजपा छोड़ने का ऐलान किया। शाक्य ने कहा है कि मैं स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ हूं और उनके साथ समाजवादी पार्टी में शामिल हो होऊंगा। कांग्रेस ने उत्तराखंड से पूर्व पार्टी प्रमुख किशोर उपाध्याय को पार्टी के सभी पदों से यह कहते हुए हटा दिया, “कई चेतावनी के बावजूद भाजपा और अन्य दलों के साथ मिलनसार हैं।”

दूसरी ओर स्वामी प्रसाद मौर्य के भारतीय जनता पार्टी छोड़ने के बाद जहां पार्टी डैमेज कंट्रोल में जुट गई है, वही ऐसी भी सूचना है कि समाजवादी पार्टी आज अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर सकती है।

स्वामी प्रसाद मौर्य के बेटे की सफाई, मेरे लिए नहीं मांगा था टिकट

दलित नेता स्वामी प्रसाद मौर्य के भाजपा छोड़ने के बाद उन पर आरोप लगाया गया है कि उन्होंने पार्टी से अपने बेटे के लिए टिकट मांगा था, लेकिन स्वामी प्रसाद मौर्य के बेटे उत्कर्ष मौर्य ने सफाई दी है कि मेरे पिता ने मेरे या मेरी बहन के लिए टिकट नहीं मांगा है।

डैमेज कंट्रोल में जुटी भाजपा

स्वामी प्रसाद के पार्टी छोड़ने के ऐलान के बाद भाजपा डैमेज कंट्रोल में जुट गई है। पार्टी से नाराज एक अन्य भाजपा विधायक दारा सिंह को भी पार्टी आलाकमान ने आज दिल्ली तलब किया है। वहीं बांदा से भाजपा विधायक बृजेश प्रजापति ने कहा है कि स्वामी प्रसाद मौर्य जिस पार्टी शामिल होंगे, वहीं भी उन्ही के साथ जाएंगे। उन्होंने कहा कि बहुत जल्दी ही कुछ और विधायक भी भाजपा छोड़कर स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ आ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here