सरकारी खाद्यान्न का ट्रैक्टर ट्राली से परिवहन, हर साल सरकार को लाखों का नुकसान

टेंडर की शर्तों का उल्लंघन कर रहे ट्रांसपोर्टर

परिवहन कर्ता और केंद्र प्रभारी नान पर लग रहे सांठगांठ के आरोप

pipariya-photoनर्मदापुरम। नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा शास कीय खाद्यान्न को यहां से वहां ढोने के लिए तथा सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत सरकारी खाद्यान्न को राशन की दुकानों तक पहुंचाने के लिए जो टेंडर नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा निकाले जाते हैं उनकी शर्तों का पालन नहीं हो रहा है। टेंडर में स्पष्ट है कि जो भी परिवहन किया जाए वह बड़े वाहनों से किया जाए ट्रैक्टर ट्राली आदि का जिक्र टेंडर की शर्तों में कहीं भी नहीं है लेकिन पिपरिया और बनखेड़ी तहसील अंतर्गत सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत द्वार द्वार खाद्यान्न पहुंचाने वाले ट्रांसपोर्टर और नागरिक आपूर्ति निगम की सांठगांठ से परिवहन संबंधी समस्त शर्तों का उल्लंघन किया जा रहा है। जिन ट्रैक्टर ट्राली के पास कमर्शियल लाइसेंस नहीं है उनसे भी खाद्यान्न भेजा जा रहा है। नागरिक आपूर्ति निगम केंद्र पिपरिया प्रभारी और परिवहन कर्ता के बीच में हुए गोपनीय समझौता को देखकर लगता है कि परिवहन कर्ता द्वारा किस तरह सरकार को लाखों रुपए की चपत लगाई जा रही है।
नागरिक आपूर्ति निगम केंद्र पिपरिया प्रभारी पद पर बरसों से पदस्थ रहे अधिकारियों द्वारा हमेशा परिवहन व्यवस्था में धांधली कराई जाती है

सूत्रों की माने तो नागरिक आपूर्ति निगम केंद्र पिपरिया में वर्षों से पदस्थ केंद्र प्रभारी और परिवहन कर्ताओं की सांठगांठ से ही इस तरह सरकारी खाद्यान्न की परिवहन व्यवस्था में खोट दिखाई दे रही है।
पिपरिया तथा बनखेड़ी क्षेत्रों की शासकीय उचित मूल्य की दुकानों पर खाद्यान्न सप्लाई की जाने को लेकर जिन वाहनों का जिक्र टेंडर में है उन वाहनों से परिवहन ना करा कर ट्रैक्टर ट्रालीओं से परिवहन कराया जा रहा है जो कि टेंडर की शर्तों के अनुकूल नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here