इमरान सरकार ने मान ली हार

पाकिस्तान की राजनीति के लिए शनिवार (आज) काफी अहम दिन है। नेशनल असेंबली में मतदान होना है। इमरान सरकार रहेगी या नहीं, ये वोटिंग के बाद तय हो जाएगा। पाक में कुल सांसदों की संख्या 342 है। इमरान को फ्लोर टेस्ट पास करने के लिए 172 वोट की जरूरत है। हालांकि सरकार के पास सिर्फ 142 सांसदों का समर्थन हासिल है। वहीं विपक्ष अपने साथ 199 सांसदों के होने का दावा कर रहा है।

सुप्रीम कोर्ट में दायर किया रिव्यू पिटिशन

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी ने सुप्रीम कोर्ट में रिव्यू पिटिशन दायर किया है। वहीं पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी ने कहा, हम स्पीकर के खिलाफ कोर्ट नहीं जाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि बिना समय बर्बाद किए वोटिंग कराएं। जरदारी ने कहा, मैं आपका ध्यान मतदान के दिन की ओर आकर्षित करना चाहता हूं।

इमरान खान ने बुलाई विशेष बैठक

पीएम इमरान खान ने रात 9.30 बजे कैबिनेट की विशेष बैठक बुलाई है। दुनिया न्यूज के हवाले से जानकारी दी गई है।

इमरान साफ और पादर्शी चुनाव से डरते हैं

बिलावल भुट्टो ने कहा कि इमरान खान साफ और पारदर्शी चुनाव से डरते हैं। हजार कोशिशों से खान राजनीतिक शहीद नहीं बन सकते। भुट्टो ने कहा, इमरान बहुमत खो चुके हैं। कप्तान मैदान से भाग गए हैं। उन्होंने कहा कि आज भी सदन में पीएम मौजूद नहीं है। कोर्ट के आदेश का पालन करें और मतदान कराएं।

देश को संवैधानिक संकट में न डालें

शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि देश फैसला करेगा। भूल जाओ कि मैं पीटीआई के सदस्य के रूप में बोल रहा हूं। मैं अब एक पाकिस्तानी के रूप में बोल रहा हूं। इस देश को संवैधानिक संकट में न डालें। उन्होंने कहा, ‘हमने कभी वार्ता से इंकार नहीं किया है। हमारे प्रधानमंत्री ने हमेशा कहा है कि अगर भारत शांति का एक कदम लेगा तो हम दो लेंगे।’ भारत में जो हिंदुत्व की सोच आई हुई है, जो आरएसएस की सोच दिल्ली में काबिज है। वह वर्ता नहीं चाहती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here