जो सामाजिक व्यवस्था से छेड़छाड़ करें, विद्वेष अशांति फैलाएं, उनके विरुद्ध सख्त एक्शन हो: CM शिवराज

भोपाल : सिवनी में दो आदिवासियों की हत्या के बाद वहां कानून व्यवस्था को लेकर की गई कार्यवाही की एसआईटी जांच के उपरांत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार सुबह सिवनी और नीमच के कलेक्टर एसपी को तलब कर कहा कि जो लोग सामाजिक व्यवस्था से छेड़छाड़ करें और समुदायिक विद्वेष व अशांति फैलाने का काम करते हैं, उनके विरुद्ध सख्त एक्शन होना चाहिए। सिवनी में पीएम आवास प्लस स्कीम में नाम जुड़वाने के नाम पर पैसे मांगे जाने समेत करप्शन व अन्य मामलों में कुछ जिम्मेदार अफसरों की सूची दिखाते हुए सीएम ने कहा कि इनके विरुद्ध वे जांच करा रहे हैं और एक्शन लेंगे।

उन्होंंने कहा कि गोवंश के परिवहन और गौवध में लिप्त व्यक्तियों और इससे जुड़े माफिया की पड़ताल कर इस नेटवर्क को ध्वस्त करें। विकास और जन सेवा से हमें विभिन्न समुदायों में विश्वास पैदा कर सामाजिक समरसता को बनाए रखना है। हमारा प्रयास यह है कि किसी भी कीमत पर विभिन्न समुदायों में दूरियां नहीं बढ़ें। मुख्यमंत्री दबंगों और माफियाओं के अतिक्रमण से मुक्त कराई गई भूमि की जानकारी भी प्राप्त की। सिवनी कलेक्टर ने बताया कि अब तक 200 एकड़ भूमि मुक्त कराई गई है, यह भूमि प्रधानमंत्री आवास और मुख्यमंत्री भू-अधिकार योजना के लिए सुरक्षित रखी गई है।

पेयजल व्यवस्था की रिपोर्ट ली
मुख्यमंत्री चौहान ने सिवनी जिले में पेयजल की स्थिति की जानकारी प्राप्त की तथा जल जीवन मिशन के अंतर्गत जारी कार्यों की अपडेट रिपोर्ट ली। चौहान ने एल एंड टी कंपनी को  कार्य शीघ्र पूर्ण करने और जिला अधिकारियों को जलापूर्ति की व्यवस्था की समीक्षा के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा की अमृत सरोवर के अंतर्गत 15 जून तक अधिक से अधिक कार्य पूर्ण किए जाएं। करप्शन कर रहे अधिकारियों कर्मचारियों के विरुद्ध तत्काल कार्रवाई करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here