‘दुनिया में सबसे बड़ा है हमारा टीकाकरण कार्यक्रम’ – पीएम नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को दूसरे ग्लोबल कोविड शिखर सम्मेलन को संबोधित किया। कहा कि हमने अपने वार्षिक स्वास्थ्य देखभाल बजट में अबतक का सबसे अधिक आवंटन किया है। हमारा वैक्सीनेशन कार्यक्रम दुनिया में सबसे बड़ा है। पीएम मोदी ने कहा, ‘कोरोना महामारी जीवन को बाधित करती है। आपूर्ति श्रृंखलाओं को बाधित और खुले समाज के लचीलेपन का परीक्षण करती है।’ हमने महामारी के खिलाफ एक जन-केंद्रित रणनीति अपनाई है। उन्होंने कहा कि हमारा टीकाकरण कार्यक्रम सबसे बड़ा है। हमने लगभग 90 फीसदी वयस्क आबादी और 50 मिलियन से अधिक बच्चों को टीका लगाया है।

200 मिलियन खुराक की सप्लाई

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश डब्ल्यूएचओ द्वारा अनुमोदित चार वैक्सीन का निर्माण करता है। इस साल पांच बिलियन डोज का उत्पादन करने की क्षमता रखता है। पीएम ने कहा, ‘हमने 98 देशों को 200 मिलियन कोविड वैक्सीन की खुराक सप्लाई की है।’ भारत ने परीक्षण, उपचार और डेटा प्रबंधन के लिए कम लागत वाली कोविड शमन तकनीक विकसित की है। हमने अन्य देशों को भी इन क्षमताओं की पेशकश की है।

वैश्विक डेटाबेस में दिया योगदान

उन्होंने कहा कि हमें एक लचीली वैश्विक आपूर्ति श्रृंखलाा का निर्माण करना चाहिए। वहीं टीकों और दवाओं को तक समान पहुंच को सक्षम बनाना चाहिए। विश्व व्यापार संगठन के नियमों को और अधिक लचीला बनाने की जरूरत है। पीएम ने कहा, पिछले माह हमने इस सदियों पुराने ज्ञान को दुनिया को उपलब्ध कराने के उद्देश्य से देश में डब्ल्यूएचओ सेंटर फॉर ट्रेडिशनल मेडिसिन की नींव रखी। यह स्पष्ट है कि भविष्ट की स्वास्थ्य इमरजेंसी स्थितियों से निपटने के लिए एक समन्वित वैश्विक प्रतिक्रिया की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि भारत के जीनोमिक्स कंसोर्टियम ने वायरस के वैश्विक डेटाबेस में योगदान दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here